Chowmein Recipe in Hindi- चाऊमीन कैसे बनाए

हमारे WhatsApp Group से जुड़े Join Now

दोस्तों, Chowmein बनाना बहुत से लोगो को बहुत ही कठिन काम लगता है। लेकिन इसे बनाना बहुत ही आसान है। बहुत से लोगो ने बाहर रेस्टोरेंट में या फिर किसी ठेले पर Chowmein खाई होती है। तो उनको लगता है के इसे बनाना बहुत ही मुश्किल काम होगा। लेकिन इसे बनाना बहुत ही आसान है। यह बच्चों से बड़ो सभी को पसंद आता है। 

Chowmein

Chowmein को बहुत से लोग शाम के समय खाना पसंद करते है। क्योंकि इस समय पर हल्की हल्की भूख भी लगने लगती है। Chowmein में नूडल्स को बहुत सारी सब्जियों को स्टिर फ्राई किया जाता है।

दोस्तो हम आज घर पर ही Chowmein बनाने वाले है उसमें किसी भी प्रकार के केमिकल का उपयोग नही करेंगे। हम इसे पूरी तरह से हेल्दी बनाने वाले है। तो चलिए सुरु करते है अपनी हेल्दी चाउमीन बनाना।

Chowmein बनाने की सामग्री :-

  • 200 ग्राम बुनियादी ढांचे
  • 5 कप पानी
  • 1 टी स्पून नमक
  • 2 टेबल स्पून तेल
  • 1 स्पून अदरक लहसुन पेस्ट
  • 1 चम्मच लाल मिर्च पाउडर
  • 1/4 कप प्याज, बारीक कटा हुआ
  • 1/2 टी स्पून सोया सॉस
  • 1 टी स्पून नमक या अपने स्वादानुसार 
  • 1/4 कप सेलरी, पिज्जा में काटा हुआ
  • 1 टी स्पून सिरका
  • 1 टी स्पून चिली चिली
  • 1 कप हरी और लाल मिर्च
  • 1 मन
  • 1 कप गाजर, बारीक कटा हुआ 
  • 1 हरी मिर्च, मसाला में कटा हुआ
  • 1 टेबल स्पून टोमैटो सॉस
  • 1 टेबल स्पून हरा प्याज
  • 1 टी स्पून लहसुन, पिज्जा में कटा हुआ
  • 1/2 चम्मच काली मिर्च पाउडर
  • तैयारी का समय 25 मिनट
  • पकने का समय 35 मिनट

Chowmein बनाने की विधि :-

  • एक भगोने में पानी गर्म करें जब पानी मे उबाल आ जाये तब इसमे स्वादानुसार नमक डालकर मिला दें। इसके बाद चाउमीन नूडल्स उबलते पानी मे डालकर आंच को धीमा
Chowmein
  • शिमला मिर्च और पत्ता गोभी डालकर 3 से 4 मिनट फ्राई कर ले।

सुझाव :-

  • पानी में अच्छा उबाल आने पर नूडल्स उबालने के लिए डालना है।
  • नूडल्स को 5-6 मिनट तक ही उबालना है।  और उबालने पर इसे छान कर इसपर ठंडा पानी डाल कर ज़्यादा पकने से रोकना है।

Read more:- Veg Biryani Recipe in Hindi- वेज बिरयानी

  • चाउमीन फ्राइ करने से पहले सभी तैयारी करके रखनी है क्योंकी इन्हें हाई फ्लेम पर पकाना है।
  • चाउमीन हमेशा तेज़ आच मे ही बनाएं |
  • चाउमीन हमेशा एक बड़ी कढ़ाई मे बनाएं ताकि Chowmein मिलाते वक़्त आपको परेशानी न आए या फिर कढ़ाई को Chowmein से 60% ही भरे |
  • आपस मे नहीं चिपकेंगे |

Chowmein परोसने का तरीका :-

  • Chowmein को कड़ाही से निकालने से पहले Chowmein में सिरका मिला दें और फिर गैस बंद करके इसे गरम-गरम परोसें। आप चाहें तो Chowmein के ऊपर एक चम्मच भुने हुए तिल के बीज व हरा प्याज डालकर भी परोस सकते हैं।
Chowmein
  • Chowmein को कोशिश करें कि Chowmein को गरमा गरम ही परोसे। क्यूंकि इसका ठंडा होने के बाद इसका स्वाद अच्छा नहीं लगता है। Chowmein को आप अकेले भी खा सकते है या फिर मोमोस वाली चटनी के साथ इसका स्वाद और भी लाजवाब लगता है।

Chowmein को हेल्दी बनाने का तरीका :-

  • Chowmein में आप पनीर, टोफू व मशरूम भी मिला सकते हैं। 
  • आप चाहें तो Chowmein में स्प्राउट्स भी मिला सकते हैं। 
  • अगर आप मैदे की Chowmein नहीं खाना चाहते हैं, तो बाजार में आटे से बने नूडल्स भी उपलब्ध होते हैं, इनका प्रयोग करें।

Chowmein खाने के फायदे :-

  • तत्वों का एक अच्छा स्रोत प्रदान कर सकता है।
Chowmein

Chowmein को घरपे जब कम मात्रा में सेवन किया जाए और स्वस्थ तरीके से तैयार किया जाए तो चाउमीन एक स्वस्थ आहार का हिस्सा हो सकता है

Chowmein खाने के नुकसान :-

  • Chowmein मैदा की बनी हुई होती है। वहीं Chowmein के साथ मिलाकर खाई जाने वाली सॉस कई बार एक्सपायर हो चुकी होती है या फिर ये बहुत ही घटिया किस्म की होती है वहीं इस तरह की सॉस खाने से आपको कब्ज की समस्या हो सकती है। जिसके कारण आपको लंबे समय तक कई बीमारियों से सामना करना पड़ सकता है।
  • Chowmein में स्वाद के लिए खतरनाक एसिड का इस्तेमाल किया जाता है। वहीं इस तरह के फास्ट फूड बनाने में अजीनोमोटो का अधिक इस्तेमाल के अलावा अन्य खतरनाक रसायनों का प्रयोग किया जाता है। वहीं Chowmein खाने से आपके शरीर की स्वाद ग्रंथियों को नुकसान पहुंचता है। इतना ही नहीं, ये आपकी सेहत को भी नुकसान पहुंचाता है।
  • Chowmein मैदे की बनी होती है। इसलिए आंतों में चिपकती है और पेट में दर्द जैसी समस्या पैदा कर सकती है। वहीं अगर आप Chowmein खाते हैं तो इससे आपका
  • अगर आप हफ्ते में चार से पांच बार Chowmein खाते हैं तो इसका सेवन आपकी पाचन क्षमता कमजोर कर सकता है। इसलिए Chowmein का सेवन करने से बचना चाहिए।
Chowmein
  • चाउमीन में उच्च मात्रा में सोडियम होता है जो ब्लड प्रेशर को बढ़ा सकता है और लंबे समय तक सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है। उच्च रक्तचाप, हृदय संबंधी समस्याएं और अन्य स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से बचने के लिए इसका इस्तेमाल कम से कम करें।
  • गली-नुक्कड़ की दुकानों पर बनने वाली चाउमीन में साफ-सफाई का ध्यान नहीं रखा जाता.
  • चाइनीज पाचन तंत्र को प्रभावित कर सकता है, जिससे आपको गैस, अपच, त्वचा, पेट दर्द आदि पाचन संबंधी समस्याएं हो सकती हैं। और चाउमीन हड्डियों के लिए भी काफी नुकानदायक होता है।

निष्कर्ष :-

दोस्तों, मुझे विस्वास है आपको ये चाउमीन की रेसिपी बनाने कि विधि बहुत पसंद आयी होगी। अगर कोई बाजार का चाउमीन ना खाना चाहे तो आप इस लेख से घर पर ही चाउमीन बनाने का आसान तरीका बताया गया है। जिससे आप रेस्टोरेंट या होटल से लाने की बजाय घर पर आसान तरीकों से बना सकते हैं।

इसके साथ साथ इस रेसिपी में चाउमीन खाने के फायदे और नुकसान दोनों ही बताए गए हैं। अगर इससे लेकर कोई भी डाउट है तो आप कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है।  या फिर अगर आपको इसके अलावा कोई और रेसिपी के बारे में जानना है जो कि मैंने अभी तक नहीं बताया है तो आप कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है। मैं कोशिश करुँगी कि आपके सवालो के जवाब जल्द से जल्द दे दू।

चाउमीन में कोनसा विटामिन पाया जाता है?

इसमें मौजूद विटामिन सी आपको हृदय रोग के जोखिम को कम करता है।

चाउमीन को पचने में कितना समय लगता है?

यह गेहूं आधारित उत्पाद है। इसका मतलब है कि यह छोटी आंत में पचता है। इसलिए छोटी आंत को बड़ी आंत में स्थानांतरित करने में लगभग 6 से 8 घंटे लगते हैं। पूरे सिस्टम से गुजरने और बाहर निकलने में इसे लगभग 36 घंटे लगते हैं।

चाउमीन खाने से कोनसा रोग होता है?

Chowmein मैदे की बनी होती है। इसलिए आंतों में चिपकती है और पेट में दर्द जैसी समस्या पैदा कर सकती है।

चाउमीन खाने के क्या फायदे है?

कार्बोहाइड्रेट, फाइबर और आवश्यक पोषक तत्वों का एक अच्छा स्रोत प्रदान कर सकता है।

चाउमीन और नूडल्स में क्या अंतर है?

नूडल्स मूल रूप से एक प्रकार का भोजन है जो आटे से बनाया जाता है, जबकि चाउ-मीन नूडल्स से बना एक व्यंजन है।

हमारे WhatsApp Group से जुड़े Join Now

1 thought on “Chowmein Recipe in Hindi- चाऊमीन कैसे बनाए”

Leave a comment