Aloo Chat Recipe in Hindi-घर पर कैसे बनाए खट्टी मीठी आलू चाट

हमारे WhatsApp Group से जुड़े Join Now

दोस्तों, भारत मे Aloo chat के ठेले हर शहर में देखने को मिल ही जाते हैं। मुम्बई और उत्तर भारत की सबसे प्रसिद्ध चाट में से एक है Aloo chat। इमली की खट्टी मीठी चटनी से साथ आलू चैट का स्वाद लाजवाब आता है। Aloo chat को आप घर पर आसानी से बनाकर तैयार कर सकते हो। क्यूंकि इस Aloo chat को बनाना बहुत ही आसान है। इसे बड़ो से लेके बच्चों सभी को पसंद आने वाले नास्ता है।

Aloo chat

इसे आप बाहर से या होटल से लाने की वजाय घर पर इस आसान तरीको से बहुत ही स्वादिस्ट चाट बना सकते हो। आप इसे शादी पार्टी या किसी भी दिन बनाकर खा सकते है। Aloo chat बनाने के लिए हम आलू को कट करके फ्राई करते है उसके बाद हम आलू के टुकड़ो को कुछ मसलो और एक स्पेशल वाली हरी चटनी के साथ मिलते है और ऊपर से थोड़ा निम्बू का रस डालते है ऐसे तैयार होती है हमारी चटपटी Aloo chat। इसे आप घर पे बनाकर जरूर ट्रॉय करे।

Aloo chat बनाने के लिए सामग्री :

  • 1 से 2 कप सादा दही
  • 2 चम्मच चीनी
  • 400 ग्राम या 3 मध्यम आलू
  • 2 से 4 बड़े चम्मच तेल, तलने के लिए
  • 1 से 2 चम्मच चाट मसाला
  • 1 से 2 छोटा चम्मच लाल मिर्च पाउडर
  • 1 से 2 चम्मच आमचूर पाउडर
  • 1 से 2 चम्मच नमक या अपने स्वादानुसार 
  • 2 बड़े चम्मच धनिया पत्ती, और गार्निश के लिए और अधिक
  • 1 हरी मिर्च, बारीक कटी हुई 
  • 1 से 2 चम्मच नींबू का रस
  • 2 बड़े चम्मच इमली की चटनी
  • 2 बड़े चम्मच बारीक कटा हुआ प्याज
  • तैयारी का समय – 15 मिनट
  • पकने का समय –  30 मिनट

Aloo chat बनाने की विधि :

  • एक छोटे कटोरे में दही और चीनी को एक साथ मिलाएं और एक तरफ रख दें।
  • आलू को अच्छे से धोइये, छीलिये और 1 इंच के क्यूब्स में काट लीजिये।
  • आलू को नमकीन पानी में नरम होने तक उबालें। उन्हें बिना गूदे पकाया जाना चाहिए। अब पानी से निकालें और पूरी तरह ठंडा करें।
  • एक बड़े फ्राइंग पैन में तेल गरम करें। और आलू डालें और बाहर से हल्का सुनहरा और कुरकुरा होने तक भूनें।
Aloo chat
  • मसाले (चाट मसाला, लाल मिर्च पाउडर, आमचूर पाउडर और नमक) को एक मध्यम कटोरे में रखें। और गरम आलू को कटोरे में डालें और एक साथ अच्छे से मिलाएँ।
  • और अब हरा धनिया, हरी मिर्च और नींबू का रस डालें।  फिर से मिला लें। 
  • एक सर्विंग बाउल में तले हुए आलू की एक परत रखें। आधा मीठा दही, बारीक कटा हुआ प्याज और इमली की चटनी छिड़कें। इसके ऊपर बचे हुए तले हुए आलू डालें और फिर बचा हुआ दही और इमली की चटनी डालें। हरे धनिये से सजाकर परोसें।

Aloo chat को परोसने का तरीका :

  • आप अपनी Aloo chat को गरमा गरम परोसे सबसे पहले एक कटोरी ले उसमे अपनी Aloo chat डाले उसके ऊपर थोड़ा धनिया पत्ता डाले और परोसे और धनिया पत्ता से Aloo chat का स्वाद और भी ज्यादा बढ़ जाता है।
  • आप चाहे तो अपनी Aloo chat के ऊपर थोड़े अनार के दाने भी डाल कर परोस सकते है।
  • आप अपनी Aloo chat के ऊपर थोड़ा बारीक सेव और थोड़ा बारीक कटे हुए अदरक के लच्छे एकदम थोड़े से वो भी डाल कर परोस सकते है।
  • आप इस Aloo chat को शाम के नाश्ते की तरह परोस सकते है या आप चाहे तो खाने से पहले starters की तरह भी इसे परोस सकते है।

सुझाव :

  • हमें आलू को ज्यादा नहीं उबालना है अगर हम आलू को ज्यादा उबलेंगे तो वो पिलपिला हो जाएगा और Aloo chat बनाते समय टूट जाएगा।
  • आप हरी चटनी को अपने स्वादानुसार काम या ज्यादा तीखा कर सकते है अगर आपको ज्यादा तीखा चाहिए तो आप अपनी चटनी में 2 की जगह 4 हरी मिर्च भी डाल सकते है और अगर आपको कम तीखा चाहिए तो आप 1 से 2 हरी मिर्च ही डाले।
  • आप अपनी Aloo chat में मसाले भी अपने मर्जी से काम या ज्यादा कर सकते है लेकिन अगर आपको ज्यादा तीखा चाहिए तो आप चाट मसाला और लाल मिर्च पाउडर अपने हिसाब से डाल सकते है।
  • Aloo chat को गरमा गरम ही सर्वे करे क्योकि Aloo chat गरमा गरम ही अच्छी लगती है। और यह ठंडा होने बाद बिलकुल ही अच्छा नहीं लगता। 
Aloo chat
  • Aloo chat को केवल घी में ही बनाये क्योकि अगर आप इसे किसी तेल में बनेगी तो आलू उस तेल का स्वाद ले लेगा और खाते समय इसका स्वाद थोड़ा अजीब सा लगेगा।
  • मीठी चटनी के बदले टमैटो सॉस उपयोग कर सकते हैं।
  • हरे धनिये की चटनी न हो, तो तीखे के लिए आप हरी मिर्च और बढ़ा सकते हैं।
  • यदि आपके पास अनारदाने हो, तो वो भी ऊपर से डाले जा सकते हैं।
  • लाल मिर्च पाउडर की जगह लाल शिमला मिर्च का प्रयोग करें
  • मसाला मिश्रण (चाट मसाला) की आधी मात्रा का प्रयोग करें
  • उपयोग किये जाने वाले दही की मात्रा बढ़ाएँ
  • हरी मिर्च छोड़ दें

Aloo chat खाने के फायदे :

  • आलू पोटेशियम से समृद्ध होता है, जो रक्तचाप को नियंत्रित करने का काम कर सकता है। साथ ही, आलू के सेवन से तनाव के कारण होने वाले हाई ब्लड प्रेशर को भी कम करने में मददगार हो सकता है।
  • आलू में हड्डियों के लिए सबसे जरूरी पोषक तत्व कैल्शियम भी पाया जाता है। हड्डियों के विकास और मजबूती के लिए कैल्शियम अहम भूमिका निभाता है। कैल्शियम की कमी से ऑस्टियोपोरोसिस की समस्या हो सकती है, जिसमें हड्डियां कमजोर और नाजुक होने लगती है। इसकी वजह से हड्डियों का विकास भी रुक सकता है और फ्रैक्चर का जोखिम बढ़ सकता है।
  • आलू को विटामिन-सी का अहम स्रोत माना गया है। एक वैज्ञानिक रिपोर्ट के अनुसार, विटामिन-सी का उपयोग कैंसर थेरेपी के लिए किया जा सकता है।
  • आलू फाइबर से समृद्ध होता है, जो पेट से जुड़ी समस्याओं पर प्रभावी रूप से काम कर सकता है। यह पाचन को बढ़ावा दे सकता है और कब्ज जैसी समस्याओं को दूर करने का काम कर सकता है। और इसमें मौजूद कार्बोहाइड्रेट भी आहार को पचाने में मददगार माने जाते हैं।
Aloo chat
  • आलू पोटेशियम का अच्छा स्रोत है और एक रिपोर्ट के अनुसार पोटेशियम की मदद से पथरी को ठीक किया जा सकता है। इसके अलावा, आलू में मौजूद फाइबर भी किडनी स्टोन को बाहर निकालने में मदद कर सकता है।
  • आलू में विटामिन सी अच्छी मात्रा में पाया जाता है। विटामिन सी इम्यूनिटी को मजबूत बनाने में मददगार है। इसके अलावा आलू में फाइबर और एंटीऑक्सिडेंट के गुण भी पाए जाते हैं जो इम्यूनिटी को बूस्ट करने में मदद कर सकते हैं।
  • अगर आपको गैस या पेट दर्द की शिकायत है तो आप आलू का सेवन करें, ये आपके पेट और गैस के लिए फायदेमंद हो सकता है। आलू में विटामिन-बी और नियासिन (विटामिन बी-3) के तत्व पाए जाते हैं जो गैस की समस्या से समाधान दिलाने में मदद कर सकते हैं।

Aloo chat खाने के नुकसान :

  • आलू का ज्यादा सेवन करने से वजन बढ़ सकता है या पाचन तंत्र गड़बड़ा सकता है।
  • आलू का अत्यधिक सेवन ब्लड प्रेशर के मरीजों के लिए नुकसानदायक है।
  • आलू का ज्यादा सेवन टाइप 2 डायबिटीज की समस्या का कारण बन सकता है।
  • गठिया के मरीजों के लिए आलू का ज्यादा सेवन नुकसानदायक हो सकता है।
  • नीले रंग के या अंकुरित आलू खाने से शरीर में एलर्जी की समस्या हो सकती है।
  • नीले रंग के या अंकुरित आलू खाने से शरीर में एलर्जी की समस्या हो सकती है।
  • आलू का ज्यादा सेवन करने से वजन बढ़ने की समस्या हो सकती है। आलू कार्बोहाइड्रेट से भरपूर होता है और कार्बोहाइड्रेट की अधिक मात्रा कैलोरी बढ़ा सकती है, जो मोटापे का कारण बन सकता है।
  • डायबिटीज आज के समय की एक गंभीर समस्या में से एक है। डायबिटीज रोगियों को बहुत सी खाने पीने की चीजें मना होती हैं आलू का ज्यादा सेवन डायबिटीज की समस्या को बढ़ा सकता है।
  • आलू का ज्यादा सेवन ही नहीं बल्कि नीले रंग के या अंकुरित आलू खाने से भी शरीर को कई नुकसान हो सकते हैं। इससे आपके शरीर में एलर्जी की समस्या हो सकती है। यहां तक कि नीले और अंकुरित आलू जहरीले हो जाते हैं, जिनके सेवन से इंसान की मौत तक हो सकती है।

पोषण तत्त्व :

  • कैलोरी – 334 कैलोरी
  • वसा – 27.4 ग्राम
  • प्रोटीन – 3.2 ग्राम
  • कार्बोहाइड्रेट – 18.7 ग्राम
  • फाइबर – 3.6 ग्राम

यह भी देखें :- Chilli Chicken Recipe in Hindi-घर पर चटपटी चिल्ली चिकन कैसे बनाए

निष्कर्ष :

दोस्तों, मुझे विस्वास है आपको ये Aloo chat की रेसिपी बनाने कि विधि बहुत पसंद आयी होगी। अगर आप  रेस्टोरेंट या होटल का Aloo chat ना खाना चाहे तो आप इस लेख से घर पर ही Aloo chat रेसिपी बनाने का आसान तरीका बताया गया है। जिससे आप रेस्टोरेंट या होटल से लाने की बजाय घर पर आसान तरीकों से बना सकते हैं।

Aloo chat

इसके साथ साथ इस रेसिपी में Aloo chat खाने के फायदे, नुकसान, पोषण और सुझाव बताया गया है। अगर इससे लेकर कोई भी डाउट है तो आप कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है। या फिर अगर आपको इसके अलावा कोई और रेसिपी के बारे में जानना है जो कि मैंने अभी तक नहीं बताया है तो आप कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है। मैं कोशिश करुँगी कि आपके सवालो के जवाब जल्द से जल्द दे दू।

क्या आलू खाने से मोटापा बढ़ता है?

आलू में फैट बहुत ही कम होता है। ऐसे में आलू को अगर सही तरीके से खाया जाए तो न तो इससे मोटापा बढ़ता और न ही इससे शुगर बढ़ता है। क्यूंकि आलू का सेवन लोग गलत तरीके से करते है। लोग आलू के पराठे, टिक्की, फ्रेंच फाइज और दम आलू जैसी डिश खाते हैं जो फैट बढ़ाती हैं। जो काफी ज्यादा तेल में बनायीं जाती है जिसे फैट बढ़ता है।

Aloo chat किस चीज से बनता है?

Aloo chat एक लोकप्रिय भारतीय स्ट्रीट फूड है जो मुख्य रूप से कुरकुरे तले हुए आलू के टुकड़ों से बनाया जाता है, जिसमें पिसे हुए मसाले और खट्टी-मीठी खजूर और इमली की चटनी होती है, और धनिया पत्ती और कुरकुरे अनार के दानों के साथ तैयार किया जाता है।

आलू के अंदर क्या होता है?

एक मध्यम आकार के आलू (173 ग्राम) से शरीर के लिए आवश्यक कई प्रकार के पोषक तत्व आसानी से प्राप्त किए जा सकते हैं। इससे 161 कैलोरी, प्रोटीन ( 4.3 ग्राम), कार्ब्स (36.6 ग्राम), फाइबर (3.8 ग्राम) और विटामिन सी, विटामिन बी6, पोटैशियम और मैंगनीज जैसे शरीर के लिए अति आवश्यक पोषक तत्व आसानी से प्राप्त किए जा सकते हैं।

आलू कब नहीं खाना चाहिए?

ऐसे लोग जो पहले से ही अधिक वजन या मोटापे की समस्या से जूझ रहे हैं उन्हें आलू का सेवन करने से बचना चाहिए। आलू में अधिक मात्रा में कार्ब्स मौजूद होते हैं, इसका अधिक मात्रा में सेवन करने से मोटापे का खतरा बढ़ जाता है। अगर आप वजन कम करना चाहते हैं तो आपको डाइट में आलू की मात्रा का ध्यान जरूर रखना चाहिए।

Aloo chat रेसिपी किसके साथ परोसी जाती है?

धनिया-पुदीना चटनी और इमली की चटनी जैसे सॉस चाट में दो सबसे आम सॉस हैं, क्योंकि वे क्रमशः मसालेदार और तीखा/मीठा तत्व प्रदान करते हैं। ठंडा और ताज़ा स्वाद जोड़ने के लिए, सादा दही भी पार्टी में शामिल होता है।

कुरकुरी Aloo chat के लिए किस प्रकार के आलू सर्वोत्तम हैं?

इसलिए, रसेट्स, इडाहो और मैरिस पाइपर जैसे स्टार्चयुक्त आलू का उपयोग करके Aloo chat सबसे अच्छा तैयार किया जाता है।

आलू खाने के फायदे क्या है?

ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करता है ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने में आलू फायदेमंद साबित हो सकता है।
पाचन को ठीक रखता है, अच्छी नींद में मदद करता है, मस्तिष्क स्वास्थ्य में सुधार करता है।

हमारे WhatsApp Group से जुड़े Join Now

Leave a comment