मोदक रेसिपी (गणेश चतुर्थी स्पेशल)-Modak Recipe in Hindi

हमारे WhatsApp Group से जुड़े Join Now

दोस्तों, मोदक रेसिपी एक लोकप्रिय मिठाई है। इसे महारास्ट्र में गणेश चतुर्थी के शुभ अवसर पर बनाया जाता है। मोदक रेसिपी को बनाना बेहद आसान होता है। और यह माना जाता है कि यह उबले हुए डंपिंग भगवान गणेश जी के पसंदीदा मिठाई है। और इस त्यौहार के समय इसे भोग के रूप में चढ़ाया जाता है। गणेश चतुर्थी में ज्यादातर लोग मोदक बाजार से लाने की बजाय घर पर ही बनना पसंद करते हैं। तो आप भी इस बार इस मोदक की रेसिपी को अपने घर पर आसानी से बनाकर देखें।

मोदक रेसिपी

मोदक रेसिपी बनाने के लिए सामग्री :-

दोस्तों मोदक रेसिपी बनाने के लिए मीठे आटे मैं नारियल जायफल और केसर को भरकर यह मोदक तैयार किए जाते हैं। और बाद में इन्हें बाप से पकाया जाता है। स्टीम मोदक सबसे ज्यादा पसंद किए जाते हैं।

मोदक
  • एक कप नारियल बारीक कटे हुए या फिर कद्दूकस किए हुए
  • एक कप गुड कद्दूकस किया हुआ
  • बारीक कटे हुए नारियल दो कप
  • किशमिश दो से तीन टेबल स्पून
  • इलायची 5 से 6 छीलकर कूट लीजिये 
  • एक चुटकी केसर
  • काजू छोटे-छोटे टुकड़ों में काट लीजिए
  • एक चुटकी जायफल
  • एक कप पानी
  • एक कप चावल का आटा
  • 2 टीस्पून घी
  • शेल तैयार करने के लिए( चावल का आटा, पानी और घी )

मोदक रेसिपी बनाने की विधि :-

समाग्री तैयार करने की विधि :-

मोदक
  • एक पेन को आंच पर गर्म होने के लिए छोड़ दे। फिर उसमें कद्दूकस किया हुआ नारियल और कद्दूकस किया हुआ गुड़ डाल दे।
  • तीन से चार मिनट के लिए मिक्सचर को पकने के लिए छोड़ दे। और कुछ देर बाद इसमें जायफल और केसर मिला दे।
  •  तीन से चार मिनट के लिए दोबारा मिक्सचर को पकाये। अब इसे उतार कर साइड में रख दे।

मोदक रेसिपी तैयार करने के लिए :-

  • एक बर्तन में पानी और घी डालकर उबालने के लिए छोड़ दे। फिर इसमें नमक और आटा डाले। और अच्छे से मिलाये। 
  • फिर एक बर्तन से ढक कर मिक्सचर को पकाने के लिए छोड़ दे। जब मिक्सर पैक कर आधा रह जाए तो एक स्टील की कटोरी पर थोड़ा सा घी लगा ले।
  • हल्का गर्म गुथे हुए आटे को अच्छी तरह गुट ले। अब इसकी गोल छोटी-छोटी लोई बनाकर हल्का दवाये। फूलों के आकार में इसके किनारे तैयार कर ले।
  • तैयार की गई सामग्री को इसके अंदर भर दे। चारों किनारो को जोड़कर इसे बंद कर दे।
  • अब इन्हे मलमल के कपड़े पर रखें 5 से 10 मिनट के लिए इन्हें भाप में पका ले।

मोदक को स्टीम करने का तरीका:-

  • स्टीमर के नीचे पानी डालकर उसे गैस पर चढ़ा दे।
  • स्टीम करने से पहले सभी मोदक के ऊपर घी लगा ले। अब पानी में उबाल आ जाने के बाद इसे स्टीमर में डालकर 10 से 15 मिनट तक स्टीम होने दे।
  • यदि आपके पास स्टीमर नहीं है तो मोदक को मलमल के कपड़े पर रखकर घर में मौजूद किसी भी बर्तन के नीचे पानी डालकर उसे भाग से पका सकते हैं।
  • अब आपका स्वादिष्ट मोदक बनकर तैयार है इसे केसर के धागे से गर्नीश करें और त्योहार में प्रसाद के तौर पर इस्तेमाल करें।
मोदक

परोसने की विधि:-

  • गरम-गरम यह व्यंजन श्री गणपति जी को निवेदन करें।
  • नाश्ते के लिए यह व्यंजन को मिठाई की तरह परोसे।

Read more :- गुड़ के लड्डू कैसे बनाए-Gud ke Ladoo Recipes in Hindi

सुझाव :-

मोदक रेसिपी बनाने के लिए नारियल के बाहरी बुरे छिलके को हमेशा निकल कर ही नारियल का उपयोग करें। क्योंकि भरा छिलका एसिडिटी और पेट में दर्द का कारण बन सकता है।

पोषक तत्त्व प्रति मोदक-

प्रोटीन 1.2 ग्राम 
ऊर्जा 126 केलोरी 
फाइबर 1.6 ग्राम 
वसा 4.4 ग्राम 
कॉलेस्ट्राल 0 मिलीग्राम 
सोडियम 1.9 मिलीग्राम 
कार्बहाइट्रेड 20.1 ग्राम 

मोदक खाने के फायदे :-

  • मोदक डायबिटीज, लीवर और बोन हेल्थ से लेकर ब्लड शुगर लेवल को भी मेंटेन रखने में मदद करता है।
  • इसमें मौजूद जिंक बॉडी इम्यून सिस्टम को बूस्ट करने में मदद करता है।
  • मोदक में मौजूद घी कब्ज से राहत पाने में मदद करता है।
  • अन्य सभी मिठाइयों की तुलना में मोदक रेसिपी आपकी सेहत के लिए  काफी ज्यादा फायदेमंद होता है।

निष्कर्ष :-

मुझे विस्वास है आपको ये मोदक बनाने कि विधि बहुत पसंद आयी होगी | अगर इससे लेकर कोई भी डाउट है तो आप कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है | मैं कोशिश करुँगी कि आपके सवालो के जवाब जल्द से जल्द देदे।

क्या मोदक और मोमोज एक ही है?

नहीं मोदक और मोमोज एक दूसरे के बिल्कुल अलग है। मोदक मीठा होता है जिसे चावल का आटा, गुड़, नारियल से बनाया जाता है। और मोमोज नमकीन होता है जिससे मैदे से बनाया जाता है और इसमें पत्ता गोभी,  लहसुन, अदरक, आदि सब्जियों का प्रयोग किया जाता है। यह दोनों व्यंजनों को भाप में पकाया जाता है।

क्या मोदक सेहत के लिए अच्छा है?

हां मोदक सेहत के लिए अच्छा माना जाता है। जो गणेश चतुर्थी पर बनाया जाता है। इसमें विटामिन सी, विटामिन ए, फोलिक एसिड, पोटेशियम, मैग्नीशियम और कैल्सियम जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं। यह सब पोषक तत्व सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद माना जाता है।

क्या वजन घटाने के दौरान मोदक खा सकते हैं?

हां वजन घटाने के दौरान मोदक की मात्रा को सीमित मात्रा में ही खा सकते हैं। गुड़ और नारियल में उच्च कैलोरी सामग्री होती है। इसलिए मोदक को कम मात्रा में खाना चाहिए।

मोदक कितने प्रकार के होते हैं?

मोदक 10 प्रकार के होते हैं।
स्टीम मोदक
फ्राइड मोदक
चॉकलेट मोदक
नारियल मोदक
काजू मोदक
ड्राई फ्रूट मोदक
मैंगो मोदक

मोदक खाने से क्या फायदा होता है?

मोदक खाने से ब्लड प्रेशर से लेकर कोलेस्ट्रॉल तक कंट्रोल होता है, साथी स्वास्थ्य से जुड़ी कई अन्य समस्याओं में भी फायदा पहुंचता है।

मोदक किस राज्य में प्रसिद्ध है?

मोदक जाट और तो महाराष्ट्र के राज्य में प्रसिद्ध मानी जाती है। लेकिन पूरे भारत में मोदक को कई नाम से जाना जाता है। जैसे- तमिल में मोथागम या कन्नड़ में मोदका।

हमारे WhatsApp Group से जुड़े Join Now

1 thought on “मोदक रेसिपी (गणेश चतुर्थी स्पेशल)-Modak Recipe in Hindi”

Leave a comment