गुड़ के लड्डू कैसे बनाए-Gud ke Ladoo Recipes in Hindi

हमारे WhatsApp Group से जुड़े Join Now

गुड़ के लड्डू उत्तर प्रदेश और मध्य भारत में बहुत ज्यादा प्रसिद्ध है। इस लड्डू को आप किसी भी त्यौहार में बना सकते हैं। गुड़ के लड्डू खाने में बहुत ही स्वादिष्ट लगते हैं। और गुड़ का लड्डू शरीर के लिए स्वस्थ माना जाता है। डिलीवरी के बाद महिला का शरीर काफी कमजोर हो जाता है।

उन्हें अच्छे खान-पान और पौष्टिक चीजों की जरूरत होती है तो आप उन्हें गुड़ के लड्डू दे सकते हैं क्योंकि यह बहुत  फायदेमंद होता है। गुड़ एक प्राकृतिक मिठाई है जो शरीर को एनर्जी से भर देता है। आपको यह जानकर हैरानी होगी की फैक्ट्री में बने शहद से भी ज्यादा ताकत गुड़ में होता है। इसलिए ज्यादातर लोग शहद के बजाय गुड़ खाना पसंद करते हैं।

गुड़ के लड्डू

गुड़ के लड्डू की सामग्री:-

  • 1 किलोग्राम कटा हुआ गुड
  •  एक से दो कटोरी बारीक कटे हुए बादाम
  •  एक से दो कटोरी बारीक कटे हुए नारियल
  •  1 से 2 कटोरी बारीक कटे हुए छुहारे
  •  एक से दो कटोरी बारीक कटे हुए काजू
  •  एक से दो कटोरी मखाने कटे हुए
  •  एक चम्मच इलायची पाउडर।
  •  दो चम्मच नारियल लंबाई में कटे हुए
  •  दो चम्मच सोंठ पाउडर
  •  1 से 4 कटोरी चिरौंजी
  •  एक कटोरी घी
  •  1 से 2 कटोरी नारियल का बुरादा
  •  400 ग्राम गेहूं का आटा
  •  एक चम्मच हल्दी पाउडर
  •  200 ग्राम अलसी

Read more :- काशीफल का हलवा-Kashifal Halwa Recipe in Hindi

गुड़ के लुड्डू बनाने की विधि :-

  • लड्डू बनाने से पहले गैस पर कढ़ाई को रखे और इसमें एक कप अलसी को डालकर इसे तेज आंच पर भूनते रहे। जब अलसी गर्म होकर चटकने लगे तो गैस की धीमी आंच कर दे। और इसको लगातार भूनते रहिए। जब यह अच्छी तरह से भून जाएगी।
  • इसके बाद अलसी को एक प्लेट में निकाल कर ठंडा होने के लिए रख दे।
  • अलसी ठंडा होने के बाद इसे मिक्सर जार में डालकर एकदम में महीन पीस लीजिये।
  • अब कढ़ाई में एक बड़े चम्मच घी डालकर गर्म करें और फिर एक बड़े चम्मच गोंद को डालकर इसे तेज आंच पर अच्छे से क्रिस्पी होने तक भूनते रहिए। गोंद को भूलने के बाद इसे एक प्लेट में निकाल लीजिए। और अगर आपके पास गोंड नहीं है तो आप बिना गोंद के भी गुड के लड्डू को बना सकते हैं।
  • अब कढ़ाई में जो देसी घी बचे हुए हैं उसमें थोड़े से कटे हुए ड्राई फ्रूट्स जैसे कि काजू,बादाम, छुहारा, आदि को डालकर अच्छे से  भूनते रहिये।
  • अब कढ़ाई में एक बड़े चम्मच देसी घी गर्म करें। और फिर इसमें एक कप मखाना डालकर इससे भी एक से 2 मिनट तक भून लीजिये। जिससे मखाना भूनकर क्रिस्पी हो जाए। मखाने को भूलने के बाद इसे भी प्लेट में निकाल लीजिए।
  • अब मखाना और गोंद को मिक्सर जार में पीस लीजिये या फिर आप कटोरी से दाब कर इसे दरदरा बना सकते हैं।
  • इसके बाद कढ़ाई में फिर से एक बड़े चम्मच घी डालकर गर्म करें और फिर इसमें आधा कप कद्दूकस किया हुआ सूखा नारियल डाल दीजिए। हल्के सुनहरे रंग में भून लीजिये। नारियल को भूनने के बाद इसे भी एक प्लेट में निकाल लीजिए।
  • अब कढ़ाई में डेढ़ कप गेहूं का आटा डालकर इसे धीमी आंच पर बराबर 4 से 5 मिनट तक भुने ताकि इसका कच्चापन ना रहे।
  • आटे को 4 से 5 मिनट तक भूनने के बाद अब इसमें तीन बड़े चम्मच देसी घी,आधा कप सोंठ का पाउडर और एक छोटी चम्मच हल्दी पाउडर डालकर सारे चीजों को आटे में अच्छे से मिलते हुए 3 से 4 मिनट तक भूने। जिससे आटे के साथ-साथ सोंठ का पाउडर और हल्दी पाउडर भी अच्छे से भून जाए।
  • आटे को भूनने के बाद अब इसे भी एक बड़े बर्तन में निकाल लीजिए।
  •  अब कढ़ाई में एक बड़े चम्मच देसी घी फिर से डालकर गर्म कर लीजिए। अब इसमें पिसे हुए अलसी को डालकर इसे 1 से 2 मिनट तक भून लीजिये। अब अलसी को भी बड़े बर्तन में निकाल लीजिए
  • इसके बाद कढ़ाई में एक बड़े चम्मच देसी घी फिर से डालकर गर्म करें और कढ़ाई में 400 ग्राम गुड़ डालकर इसे भी धीमी आंच पर चलाते हुए अच्छे से पिघलने दे जब तक यह पक ना जाए। जब गुण पूरी तरह से पिघल जाए तो समझ लीजिए लड्डू की चासनी तैयार है और फिर गैस को बंद कर दीजिए।
  • अब भुने हुए अलसी, मेवा, नारियल, आटा मखाना,गोंद सारी चीजों को अच्छे से मिला लीजिए।
  • फिर इसके बाद इसमें गुड़ की चासनी डालकर अच्छे से मिलाकर लड्डू के मिश्रण को तैयार कर लीजिए।
  • इसके बाद थोड़े-थोड़े मिश्रण हाथ में लेकर आप अपने हिसाब से छोटे या बड़े साइज में लड्डू बनाकर तैयार कर लीजिए।
  • अगर मिश्रण ज्यादा सुखा या भरभरा लगे तो आप इसमें एक से दो चम्मच घी भी डालकर मिला दे। इससे लड्डू आसानी से बन सकेंगे।
  • लड्डू को बनाने के बाद आप स्टील या कांच के बर्तन में स्टोर करके महीना भर तक रख सकते हैं और खा सकते है। क्यूंकि यह लड्डू जल्दी खराब नहीं होंगे।

सुझाव:-

गुड़ के लड्डू
  • लड्डू के लिए गुड़ की चासनी बनाते समय ध्यान रखें कि गुड को गलाने के बाद गैस को आप तुरंत बंद कर दे। 
  • चासनी को देर तक ना पकाई क्योंकि अगर चाशनी ज्यादा देर तक पकाएंगे तो लड्डू टाइट बनेंगे।

गुड़ के लड्डू खाने के फायदे :-

गुड़ के लड्डू

गुड़ के लड्डू खाने के बहुत ही फायदे हैं। यह पाचन प्रक्रिया में मदद करता है। महिला को कब्ज की कोई शिकायत नहीं होती है। यही कारण है कि कई लोग खाना खाने के बाद गुड खाते हैं। यह लीवर को  साफ करने में सहायता करता है।

गुड़ के लड्डू कब खा सकते हैं?

वैसे तो आप गुड के लड्डू कभी भी खा सकते हैं।लेकिन डिलीवरी के बाद यह ज्यादा फायदेमंद होता है।

गुड़ खाने से क्या होता है?

गुड़ खाना डिलीवरी के बाद महिला के लिए काफी जरूरी है। क्योंकि उसका इम्यून मजबूत होगा और किसी भी तरह के संक्रमण से वह बची रह सकती हैं।

गुड़ रोजाना खाने से क्या होता है?

गुड़ रोजाना खाने से मूड स्विंग,पेट दर्द, दर्द,आदि में कमी आती है। यह सब परेशानियां डिलीवरी के बाद भी होती है।


हमारे WhatsApp Group से जुड़े Join Now

2 thoughts on “गुड़ के लड्डू कैसे बनाए-Gud ke Ladoo Recipes in Hindi”

Leave a comment